र्पसनालिटी डेवलपमेंट : ‘स’ के 5 फंडे

 ‘स’ के 5 फंडे 

नई पीढ़ी की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता है, आजादी- जो अक्सर पुरानी पीढ़ी को बदतमीजी लगती है। हालांकि हरेक व्यक्ति को जिंदगी में कभी न कभी खास बनने के अवसर आते हैं लेकिन अक्सर वे गलतफहमी या फिर खुद को कम आंकने के कारण मंजिल नहीं पाते। हालांकि जिंदगी में करियर के लेकर दो विकल्प होते हैं, अपने लिए नौकरी की तलाश करिए या स्वयं का उद्यम शुरू कीजिए, लेकिन 
र्पसनालिटी पांच ’स‘ का जरूर ध्यान रखा जाना चाहिए -

समुचित शिक्षा :
अच्छी शिक्षा सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। बदलती दुनिया, बदलती तकनीक, आइडिया, अपरच्युनिटी और इनवायरमेंट काफी अहम है। इसलिए अलग-अलग गुण हासिल करने में खुद को लचीला बनाएं। अच्छी शिक्षा कभी व्र्यथ नहीं जाती।

र्सवश्रेष्ठ:
आप जहां भी, जैसे भी काम कर रहे हैं, अपना र्सवश्रेष्ठ प्र्रदशित करें। आप जहां भी काम कर रहे हैं, गहरी जानकारी रखें। सबकुछ सीखने की कोशिश करें, भले ही आपने किसी क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन की हो। इससे आप पूरे आत्मविश्वास के साथ काम कर पाएंगे।

समय प्रबंधन :
सफल और असफल लोगों के समय में काफी अंतर होता है। फुर्तीले, समय के साथ व्यवस्थित रहने वाले के कदम सफलता हमेशा चूमती है। हर काम को चुनौती के तौर पर लेना सफल लोगों का शगल होता है जिसे वे बेहतर प्रबंधन के जरिए अंजाम देते हैं।

संवाद :
अपने विचार प्रकट करना और दूसरे के विचार सुनना अहम गुण हैं। संवाद के लिए तीन बातें महत्वपूर्ण हैं- कंटेंट, प्लानिंग और प्रजेंटेशन। किसी भी विषय पर अपनी बात रखने से पहले उस विषय का गहन अध्ययन जरूरी है। इसके बाद कंटेंट तैयार कर बोलने का अभ्यास करें। पत्र-पत्रिकाओं के अलावा किताबें पढ़ना भी एक कला है। हल्के-फुल्के उपन्यास, कथा साहित्य के साथ विभिन्न ज्ञानर्वधक चैनल से काफी जानकारियां प्राप्त की जा सकती हैं।

संयम :
हर मामले में दूसरों के नजरिए से देखें। अपनी तारीफ खुद कभी न करें। हमेशा ऐसे काम करें कि दूसरी आपकी तारीफ करें। ऐसे मामलों में संयम बरतें। घर-परिवार से लेकर ऑफिस की छोटी-छोटी बातें को तूल न दें। दूसरों की बातें भी मानें। इस बात से कोई र्फक नहीं पड़ता, यदि आपसे जूनियर या सीनियर ने आपको कुछ कह दिया। दूसरों की छोटी-छोटी बातों को मानकर और छोटी-छोटी गलतियों को माफ कर आप उनकी नजरों में महान बनते हैं। दूसरों को खुशी देने से आप भी खुद खुश रहेंगे।

0 Comment "र्पसनालिटी डेवलपमेंट : ‘स’ के 5 फंडे"

एक टिप्पणी भेजें